aag suraj me hoti hai

aag suraj me hoti hai

आग सूरज में होती है जलना ज़मीन को पड़ता है
मोहब्बत निगाहें करती है तड़पना दिल कोपड़ता है

Bollywood Shayari