Ehsaan Kisi Ka Woh

ehsaan kisi ka woh

Ehsaan Kisi Ka Woh Rakhte Nahi Mera Bhi Chuka Diya
Jitna Khaya Tha Namak Mera Mere Zakhmo Pe Laga Diya.
एहसान किसी का वो रखते नहीं मेरा भी चुका दिया
जितना खाया था नमक मेरा मेरे जख्मों पे लगा दिया

Zakhm Dene Ka Tareeka Koi Na Mila Unhein
Mehfil Mein Chhedte Rahe Zikr-e-Wafa Baar-Baar. ज़ख्म देने का तरीका कोई न मिला उन्हें
महफ़िल में छेड़ते रहे ज़िक्र-ए-वफा बार-बार

Monday Quotes