Adhuri Hasrato Ka

adhuri hasrato ka sad shayari

adhuri hasrato ka aaj bhi ilzaam hai tum par
agar tum chahte to ye mohabbat khatm na hoti
अधूरी हसरतों का आज भी इलज़ाम है तुम पर
अगर तुम चाहते तो ये मोहब्बत ख़त्म ना होती

Read More