Shayari On Dosti

chhu na saku

Chhu Na Saku Aasman Ko Toh Koi Gham Nahi
Bas Chup Jao Dosto Ke Dil Ko Ye Bhi Toh Aasman Se Kam Nai
छु ना सकू आसमान को तो कोई गम नहीं
बस छु जाओ दोस्तों के दिल को ये भी तो आसमान से कम नई

जब दोस्ती सच्ची और मजबूत होती है
तो उसे जताने की ज़रूरत नही होती है
चाहे दोस्त कितना भी दूर चला जाये
उसे पास लाने की ज़रूरत नही होती है

तेरे हर एक दर्द का एहसास है मुझे
तेरी मेरी दोस्ती पर बहुत नाज़ है मुझे
क़यामत तक न बिछड़ेंगे हम दो दोस्त
कल से भी ज्यादा भरोसा आज है मुझे

Dosti Shayari