hum najarandaj kiye gye

hum najarandaj kiye gye

takleef ye nhi ki tujhe azeez koi aur hai
dard tab hua jab hum najarandaj kiye gye
तकलीफ ये नही की तुझे अज़ीज़ कोई और है
दर्द तब हुआ जब हम नजरअंदाज किये गये

Read More