Khwab Dekha

khwab dekha romantic shayari

ek hi khwab dekha hai kai baar maine
teri shadi me uljhi hai chahiye mere ghar ki
एक ही ख़्वाब देखा है कई बार मैंने
तेरी शादी में उलझी है चाहिए मेरे घर की

Read More