gam shayari photo

mere dard ki kahani

bhut zuda hai auron se mere dard ki kahani
zakhm ka koi nishan nahi aur dard ki koi intha nhi
बहुत जुदा है औरों से मेरे दर्द की कहानी
ज़ख्म का कोई निशान नहीं और दर्द की कोई इंतहा नही

wo mujhe se bichda to jaise bichad gayi zindgi
main zinda to hoon par zinda nahi raha
वो मुझे से बिछड़े तो जैसे बिछड़ गयी ज़िन्दगी
मैं ज़िंदा तो हूँ पर ज़िंदा नहीं रहा

Dard Bhari Shayari