Attitude Shayari images

meri mizaaz ko

Meri Mizaaz Ko Samajhne Ke Liye Bas Itna Hi Kafi Hai
Mai Uska Hargiz Nhi Hota Jo Har Ek Ka Ho Jaye
मेरी मिज़ाज़ को समझने के लिए बस इतना ही काफी है
मई उसका हरगिज़ नही होता जो हर एक का हो जाये

Jab Mahasoos Ho Sara Shahar Tumase Jalane Laga
Samajh Lena Tumhaara Naam Chalane Laga
जब महसूस हो सारा शहर तुमसे जलने लगा
समझ लेना तुम्हारा नाम चलने लगा

Aksar Jal Jaate Hain Mere Andaaz Se Mere Dushman
Kyo ki Ek Muddat Se Maine Na Dost Badale Na Mohabbat
अक्सर जल जाते हैं मेरे अंदाज़ से मेरे दुश्मन
क्योंकि एक मुद्दत से मैंने न दोस्त बदले न मोहब्बत

Attitude Shayari