Attitude Shayari images

meri mizaaz ko

meri mizaaz ko samajhne ke liye bas itna hi kafi hai
mai uska hargiz nhi hota jo har ek ka ho jaye
मेरी मिज़ाज़ को समझने के लिए बस इतना ही काफी है
मई उसका हरगिज़ नही होता जो हर एक का हो जाये

Log Agar Yun Hi Kamiyan Nikalte Rahe Toh
Ek Din Sirf Khubiyan Hi Reh Jayengi Mujh Mein
अगर लोग यूँ ही कमियां निकालते रहे तो
एक दिन सिर्फ खूबियाँ ही रह जायेगी मुझमें

Attitude Shayari