mizaz me thodi sakhti

mizaz me thodi sakhti

mizaz me thodi sakhti lazmi hai huzoor
log pi jate hai samandar agar khara na hota
मिज़ाज़ में थोड़ी सख्ती लाज़मी है हुज़ूर
लोग पि जाते है समन्दर अगर खड़ा न होता

Read More