Gam Bhari Shayari

mohabbat ki kahani likhna

kitna mushkil hai mohabbat ki kahani likhna
jaise pani se pani pe pani likhna
कितना मुश्किल है मोहब्बत की कहानी लिखना
जैसे पानी से पानी पे पानी लिखना

milta bhi nahi tumhare jaise is saher man
humko kya maloom tha ki tum bhi kisi aur ke ho
मिलता भी नहीं तुम्हारे जैसे इस शहर में
हमको क्या मालूम था के तुम भी किसी और के हो

tujhe pane ki tmanna dil se nikaal di maine
mgar aakho ko tere intzaar ki aadat si ban gyi hai
तुझे पाने की तमन्ना दिल से निकाल दी मैंने
मगर आँखों को तेरे इंतज़ार की आदत सी बन गयी है

Dard Bhari Shayari