nzar aur naseeb me

nzar aur naseeb me

nzar aur naseeb me bhi kya ittefaq hai
nazar use hi psand karti hai jo nasheeb me nhi hota
नज़र और नसीब में भी क्या इत्तफ़ाक़ है
नज़र उसे ही पसंद करती है जो नसीब में नही होता

Read More