jannat ka har lamha

jannat ka har lamha

jannat ka har lamha didar kiya tha
god mein uthakar jab maa ne pyaar kiya tha
जन्नत का हर लम्हा दीदार किया था
गोद में उठाकर जब मां ने प्यार किया था

saare jahaan mein nahin milata beshumaar itana
sukoon milata hai maan ke pyaar mein jitana
सारे जहां में नहीं मिलता बेशुमार इतना
सुकून मिलता है माँ के प्यार में जितना

maangane par jahaan poori har mannat hoti hain
maan ke pairon mein hi to vo jannat hoti hai
मांगने पर जहां पूरी हर मन्नत होती हैं
माँ के पैरों में ही तो वो जन्नत होती है

Mothers Day Shayari